गर्भधारण के शुरूआती लक्षण – What are the Early Pregnancy Symptoms

garbhdharan-ke-shuruaati-lakshan.jpeg

गर्भधारण के शुरूआती लक्षण – What are the Early Pregnancy Symptoms

माँ बनने का एहसास बेहद खूबसूरत होता है, खासतौर पर तब जब आप पहली बार माँ बन रहीं हों। जब औरत पहली बार माँ बनने वाली होती है उससे पहले उसके मन में कई तरह की आशंकाएं और सवाल उठ रहे होते हैं। साथ ही वह उत्सुक भी होती है यह सुनिश्चित करके लिए की वो माँ बनने वाली है। इसलिए आज के इस ब्लॉग में मैं आपको गर्भधारण के शुरूआती लक्षण – What are the Early Pregnancy Symptoms के बारे में बताने वाली हूँ जिनके जरिये आप सुनिश्चित कर पाएं की आपने गर्भधारण कर लिया है।

अक्सर महिलाएं सोचती है इस महीने मुझे अब तक पीरियड नहीं हुआ तो कहीं मैं प्रेग्नेंट तो नहीं? क्या डॉक्टर के पास अभी जाना ठीक होगा? क्या करूं? किससे पूछूं? क्या मैं सच में प्रेग्नेंट हूं? अक्सर हम औरतें इस मौके पर सवालों के चक्रव्यूह में फंसी नजर आती हैं। इन तमाम सवालों के जवाब ढूंढने में कोई और नहीं बल्कि आपका शरीर ही आपकी मदद कर सकता है। अब आप सोच रही होंगी, भला वो कैसे?

कई बार पीरियड्स मिस होने पर भी औरतें इसे लाइट लेती हैं और प्रेग्नेंसी टेस्ट करने में लापरवाही बरतती है जिसके फलस्वरुप कई तरह की जटिलताएं (Complications) उत्त्पन्न हो जाती हैं। इसलिए गर्भवती होने पर आपके शरीर में कौन कौन से बदलाव होते हैं? किन लक्षणों से आप जान सकती है की आप गर्भवती है, चलिए जानते हैं।

अगर आप प्रेग्नेंट होने के लक्षण को नहीं पहचान पा रही हैं तो आपकी इस समस्या में मदद करेंगे गर्भावस्था के दौरान प्रकट होने वाले वो तमाम लक्षण जो आपके अंदर नज़र आएंगे। बस जरुरत है तो उन लक्षणों को जानने और महसूस करने की। मासिक धर्म ना होना निश्चित रूप से गर्भावस्था का सबसे स्पष्ट संकेत है, लेकिन केवल यही एक संकेत नहीं है।

आपके मासिक धर्म ना होने से पहले एक अंडा निषेचन के बाद गर्भाशय की दीवार में प्रत्यारोपित हो जाता है। जिस क्षण प्रत्यारोपण होता है, आप गर्भवती हो जाती हैं। जब आप गर्भावस्था के कुछ दिनों या हफ्तों को पार कर जाती हैं, तो शरीर निश्चित रूप से मासिक धर्म की तारीख से पहले ही गर्भावस्था के संकेत देना शुरू कर देता है। गर्भधारण के लक्षण आमतौर पर गर्भाधान के पहले सप्ताह के दौरान दिखाई देने लगते हैं।

हालांकि, हमारा उत्साहित चिंतित और आशा भरा मन उन संकेतों पर ध्यान नहीं दे पाता। आप गर्भवती हैं या नहीं, यह जानने का सबसे सटीक तरीका निःसन्देह ही प्रेग्नेंसी टेस्ट है। लेकिन मासिक धर्म न होने से पहले कुछ सामान्य लक्षणों का दिखना गर्भावस्था के पहले संकेत हो सकते हैं। तो चलिए आगे जानते हैं उन लक्षणों के बारे में।

 

गर्भधारण के शुरूआती लक्षण – What are the Early Pregnancy Symptoms

गर्भधारण करने के शुरुआती लक्षण (Garbhdharan hone ke Lakshan) निम्नलिखित हैं:

1. मासिक धर्म का रुकना – मासिक धर्म का रुकना ही गर्भधारण की पहली निसानी है।

2. कब्ज़ – मासिक धर्म न होने के एक सप्ताह बाद अगर कब्ज़ महसूस होता है, तो आपको प्रेग्नेंसी टेस्ट करने पर विचार करना चाहिए। प्रोजेस्टेरोन हॉर्मोन आंतों में कसाव पैदा करता है और इस दौरान यदि आपको शौच में तकलीफ होती है, हॉर्मोन के अचानक बढ़ने के कारण मलोत्सर्ग कड़ा हो जाता है और पाचन तंत्र से पार होने वाले भोजन की गति कम हो जाती है।

3. सिरदर्द – गर्भाधान होने पर, एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टेरोन हॉर्मोन बच्चे के लिए गर्भाशय को तैयार करने के लिए अतिरिक्त काम करते हैं। हॉर्मोन के कारण रक्त शर्करा के स्तर में गिरावट आती है जिससे सिरदर्द होता है क्योंकि मस्तिष्क की कोशिकाएं शर्करा के निम्न स्तर के साथ तालमेल रखने के लिए संघर्ष करती हैं।

4. मुँह में अजीब स्वाद – हार्मोन में अजीब गतिविधियों के कारण आपको अपने मुँह में एक अजीब स्वाद महसूस हो सकता है। आपको ऐसा लगेगा जैसे कि आपने कुछ बेस्वाद धातु खाया है। यह धातु जैसा स्वाद आपको यह बताने का एक प्रारंभिक संकेत हो सकता है कि आपने मातृत्व की यात्रा शुरू कर दी है। लक्षण आमतौर पर पहली तिमाही के बाद खत्म हो जाते हैं लेकिन कुछ महिलाओं में अधिक समय तक जारी रह सकते हैं।

5. लार टपकना या अत्यधिक थूक बनना – हालांकि यह आम लक्षण नहीं है, कुछ महिलाओं में मासिक धर्म ना होने से पहले अत्यधिक लार का उत्पादन होता है। यह स्थिति आमतौर पर टाइलिस ग्रेडिडारम के नाम से जानी जाती है जो मॉर्निंग सिकनेस और छाती में जलन से संबंधित है। मतली की अनुभूति के कारण मुँह में अतिरिक्त लार का निर्माण होता है।

6. अत्यधिक गर्मी महसूस होना – यह मासिक धर्म होने के निर्धारित समय पर या मासिक धर्म बंद होने के बाद आमतौर पर अनुभव किया जाता है लेकिन अचानक ज्यादा गर्मी लगना गर्भावस्था का शुरुआती संकेत भी हो सकता है। यदि आपको महसूस होता है कि गर्मी की लहर आपके शारीरिक अंगों को जकड़ रही है, तो यह आपके गर्भवती होने का संकेत हो सकता है।

7. धब्बे, मुंहासे और फुंसी – मासिक धर्म के निर्धारित समय से पहले मुंहासे और फुंसी का कभी–कभी होना आम है। गर्भाधान के बाद हॉर्मोन के स्तर में वृद्धि होने के परिणामस्वरूप अचानक से यह बहुत ज्यादा बढ़ सकते हैं। खैर, इसका उल्टा भी हो सकता है, मासिक धर्म के निर्धारित समय से पहले मुंहासे बिलकुल साफ भी हो सकते हैं और यह संकेत हो सकता है कि गर्भावस्था शुरू हो गई है।

8. अजीब सपने – गर्भावस्था के शुरुआती (Early Pregnancy Symptoms in Hindi) हफ्तों में अजीब सपने आना आम बात है। यह एक अजीब गर्भावस्था का लक्षण है जहाँ कई महिलाओं को गर्भाधान के एक या दो सप्ताह बाद अजीब भावनाओं की अनुभूति होती है।

गर्भावस्था के हॉर्मोन विचित्र तरीके से काम करते हैं, जिससे एक गर्भवती महिला को बेवजह सपने और भ्रम पैदा होते हैं। ऐसे सपने आपको पुरे गर्भावस्था के दौरान या आखिरी के महीनो में भी आ सकते है।

9. अत्यधिक प्यास या बार–बार खाने की इक्छा – यदि आप अचानक ढेर सारा पानी पीने लगती हैं तो आश्चर्यचकित न हों, रक्त की मात्रा में वृद्धि से आप मासिक धर्म ना होने की तारीख से पहले ही अत्यधिक प्यास महसूस कर सकती हैं। हॉर्मोन में वृद्धि होने के कारण आपको हर समय भूख लगती रहेगी और आपको बार–बार खाना खाने की इच्छा होगी ।

10. बार–बार पेशाब करने की ज़रूरत – बार–बार पेशाब करने की ज़रूरत महसूस होना एक और प्रमुख संकेत है। यह प्रवृत्ति गर्भावस्था के दौरान बढ़ती है जब बढ़ता गर्भाशय, मूत्राशय पर दबाव डालना शुरू करता है तो आपको बार बार पेशाब जाना पड़ता है। हॉर्मोन में परिवर्तन और रक्त के अतिरिक्त उत्पादन के साथ, बार–बार पेशाब आना एक सामान्य लक्षण है जो पूरी गर्भावस्था के दौरान रहता है।

11. पीड़ादायक, संवेदनशील और भारी स्तन – मासिक धर्म न होने से एक सप्ताह पहले से ही पीड़ादायक, संवेदनशील व भारी स्तन या निप्पल के चारों तरफ के रंग का गहरा होना नज़र आने वाले गर्भधारण के लक्षण होते हैं। गर्भाधान के बाद एस्ट्रोजेन का स्तरबढ़ने के साथ, महिलाएं अत्यधिक पीड़ित व भरा–भरा महसूस करती हैं, और स्तन में तेज़ दर्द होता है। निप्पल गहरे रंग के दिखने शुरू हो जाते हैं और इनमें खुजली, तनाव या चुभन भी महसूस होती है।

12. थकावट – हॉर्मोन में परिवर्तन के कारण आप हर समय थकान महसूस करती हैं। थकावट और नींद आना गर्भवती होने के शुरुआती लक्षण हैं, मामूली काम करने के बाद थकान महसूस होना बेहद सामान्य है। ज्यादा सोने की प्रवृत्ति के लिए प्रोजेस्टेरोन के बढ़ते स्तर को दोषी माना जा सकता है और यह पहली तिमाही की पूरी अवधि के दौरान जारी रहता है।

बढ़ते भ्रूण का समर्थन करने के लिए शरीर अधिक रक्त का उत्पादन करना शुरू कर देता है जिसके परिणामस्वरूप थकावट बढ़ जाती है।

13. जी मिचलाना – मतली या उल्टी, एक मामूली लक्षण है, जिसे अक्सर “मॉर्निंग सिकनेस” कहा जाता है। यह लक्षण प्रमुख है और यह संकेत दे सकता है कि आप गर्भवती हैं। गर्भाधान के कुछ दिनों के भीतर, आप बेचैन महसूस करना और मतली का अनुभव करना शुरू कर सकती हैं।

एस्ट्रोजेन और प्रोजेस्टेरोन के स्तर में वृद्धि के कारण, आपको हर दिन उठते ही उल्टी सी लग सकती है। जरूरी नहीं कि मतली हमेशा सुबह ही हो, यह कभी भी हो सकती है व पूरे दिन तक चल सकती है और गर्भावस्था की पूरी अवधि के दौरान यह परेशानी जारी रह सकती है।

14. पेट में सूजन और कसाव का एहसास – मासिक धर्म ना होने से पहले, गर्भावस्था के सबसे आम लक्षणों में से एक है पेट में सूजन या मरोड़ और खिचाव, यह प्रोजेस्टेरोन के बढ़ने का परिणाम हो सकता है। हॉर्मोन का बढ़ता स्तर पाचन में बाधा डालता है और इसी कारण से आंतों में गैस फंस जाती है जिससे पेट फूलने लगता है जिससे गैस और डकार की समस्या भी उत्पन्न हो सकती है।

यह भी पढ़ें: 

डिलीवरी के बाद पेट की चर्बी कैसे कम करें – How to lose Belly Fat after Delivery

सिजेरियन डिलीवरी की सच्चाई क्या है और सिजेरियन डिलीवरी की जरुरत कब पड़ती है

15. सिर चकराना तथा मिजाज़ में अचानक परिवर्तन – चक्कर आना और बेहोशी का एहसास गर्भावस्था का एक प्रारंभिक लक्षण है जो कई गर्भवती महिलाओं में होता है। रक्त वाहिकाएं चौड़ी हो जाती हैं, जिससे रक्तचाप में कमी होती है और चक्कर व असंतुलन महसूस होता है।यह लक्षण पहली तिमाही के दौरान दिखाई देता है और धीरे–धीरे बाद के महीनों में कम हो जाता है।

इसी के साथ आपक अपने मिज़ाज़ में काफी परिवर्तन देखने को मिलेगा जैसे कभी उदास, कभी खुश, कभी गुस्सा तो कभी कुछ। हॉर्मोन में असंतुलन मस्तिष्क में न्यूरोट्रांसमीटर को प्रभावित करता है, जिससे क्रोध से लेकर अचानक भावनात्मक आवेग के दौर बढ़ जाते हैं। यदि आप सामान्य महसूस नहीं करती हैं तो आराम करने के लिए थोड़ा समय निकालें।

 

अगर आप उपरोक्त में से कुछ या सभी लक्षणों को महसूस करती है तो आप गर्भवती हो सकती है। आज मैंने आपको गर्भवस्था के शुरूआती लक्षण (pregnancy ke shuruati lakshan) बताएं है जिससे आप जान पाए होंगे की गर्भधारण के बाद के शुरूआती लक्षण क्या होते हैं (what are the pregnancy symptoms)। अगर आप भी यह सब गर्भधारण के लक्षण महसूस कर रही हैं तो देर ना करें तुरंत अपने डॉक्टर से मिले और सारे टेस्ट्स करवाएं।

 

तो यह थे गर्भधारण होने के लक्षण (garbh thaharne ke lakshan), आज की पोस्ट गर्भधारण के शुरूआती लक्षण – What are the Early Pregnancy Symptoms आपको कैसी लगी जरूर बताएं। आज का पोस्ट Pregnancy Conceive ke Lakshan आपको पसंद आया हो इसे अपने दोस्तों और जिसे इसकी जरुरत है उसके साथ जरूर शेयर करें। अपने सुझाव या किसी सवाल के लिए आप मुझे कमेंट कर सकते हैं।

post a comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.