कुंडली के हिसाब पहनना है शुभ रंग? शरीर के इस भाग में भूलकर भी न करें धारण, पंडित जी से जानें कहां पहनना शुभ

कुंडली के हिसाब पहनना है शुभ रंग? शरीर के इस भाग में भूलकर भी न करें धारण, पंडित जी से जानें कहां पहनना शुभ


हाइलाइट्स

कुंडली के मुताबिक से शुभ रंग को कमर के नीचे पहनने से बचना चाहिए.
ऐसा करने से कुंडली में दोष बढ़ता है और घर में नकारात्मक शक्ति बढ़ती है.

Vastu tips for colors: सनातन धर्म में रंगों का विशेष महत्व होता है. यही वजह है ज्यादातर लोग अपनी कुंडली के मुताबिक शुभ रंग को धारण करते हैं. माना जाता है कि शुभ रंग के कपड़े पहनने से जीवन पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है. साथ ही परिवार से दोष भी दूर होते हैं. इसलिए अपनी राशि के हिसाब से शुभ रंग जरूर पहनना चाहिए. लेकिन, इससे भी जरूरी है कि शुभ रंग पहनने से जुड़ी जानकारी का होना. क्योंकि, शुभ रंगों को गलत जगह पहनने से आप परेशानियों में फंस सकते हैं. अब सवाल है कि आखिर शुभ रंग को शरीर के किस भाग में धारण करना चाहिए और कहां पहनने से बचें? इस बारे में बता रहे हैं कासगंज की तीर्थनगरी सोरों के ज्योतिषाचार्य डॉ. गौरव दीक्षित-

शरीर के किस भाग में पहनें शुभ रंग: कुंडली के हिसाब से यदि कोई रंग को धारण करना चाहता है तो सबसे जरूरी है कि वह कौन सी चीज कहां पहन रहा है. क्योंकि, शुभ रंग हमेशा कमर से ऊपर पहना जाता है. यहां पैरों में रंगीन जूते आदि पहनने का नियम लागू नहीं होता है. ऐसा करने से आत्मविश्वास में बढ़ोतरी होती है. साथ ही व्यक्ति में उत्साह, ऊर्जा तथा प्रबल इच्छाशक्ति उत्पन्न होती है.

शरीर के इस भाग में न पहनें शुभ रंग: ज्योतिषाचार्य के मुताबिक, ज्यादातर लोग शुभ पहनते तो हैं, लेकिन इनको कहां पहनना है इसकी जानकारी कम लोगों को ही होती है. बता दें कि, शुभ रंग को कभी कमर से नीचे नहीं पहनना चाहिए. क्योंकि बहुत से लोग जूते और पैंट को भी शुभ रंग मानते हैं, जोकि गलत है. ऐसा करने वाले जातकों की कुंडली में दोष होता है. इससे इंसान में सोचने-समझने की क्षमता कमजोर हो जाती है.

ये भी पढ़ें:  किस दिन नहीं खरीदना चाहिए जूते-चप्पल, 90% लोग कर जाते हैं गलती, घर में आता है दुर्भाग्य, पंडित जी ने बताई वजह

इस रंग के कपड़ों न पहनें: वास्तु के अनुसार जिन युवक-युवतियों की आयु विवाह योग्य हो उन्हें काले रंग के कपड़ों को पहनने से बचना चाहिए. इन लोगों के लिए नारंगी, गुलाबी आदि हल्के रंग के कपड़े शुभ रहते हैं. इसके अलावा भी काले रंग के वस्त्रों को कम ही पहनना चाहिए. यदि काले रंग के वस्त्र पहनना हो तो पूरी तरह से काले कपड़े धारण नहीं करने चाहिए.

ये भी पढ़ें:  भूलकर भी न करें खाना खाने से जुड़े ये 5 काम, कंगाल होने में नहीं लगेगा वक्त, पंडित जी से बताई हैरान करने वाली बात

ऐसे कपड़े बढ़ाते हैं नकारात्मकता: वास्तु के अनुसार घर में फटे-पुराने कपड़े, चादर, बिस्तर या पर्दे आदि का प्रयोग नहीं करना चाहिए. इससे घर में नकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह होता है. जिससे आपके जीवन में परेशानियां आ सकती हैं. फटे-पुराने वस्त्रों को साफ-सफाई के काम में उपयोग में लाया जा सकता है.

Tags: Astrology, Dharma Aastha, Religion



Source link

post a comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Pagespeed Optimization by Lighthouse.